Home ज्योतिष Mental stress से गुजर रहे हैं तो इन ग्रहों को करें शांत.....

Mental stress से गुजर रहे हैं तो इन ग्रहों को करें शांत.. जानें क्या है उपाय

132
0
Mental stress से गुजर रहे हैं तो इन ग्रहों को करें शांत

जय जोहार. मानसिक तनाव (Mental stress) एक ऐसी समस्या है जिसे यदि वक्त रहते ठीक न किया जाए तो किसी को भी इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। हालांकि इसके कई कारण हो सकते हैं लेकिन इनमें से एक कारण जातक की जन्म कुंडली में बैठे ग्रह भी हैं। आईए जानते हैं कौन सा ग्रह इसका कारक है और उन ग्रहों के लिए क्या उपाय करें।

ज्योतिष शास्त्र (Astrology) में चंद्रमा ग्रह को मन का कारक माना गया है। जब चंद्रमा (Moon) अशुभ होता है तो ये भी तनाव का एक कारण बनते हैं। ऐसी स्थिति कुंडली में तब बनते हैं जब चंद्रमा कमजोर हो या फिर वह किसी अशुभ ग्रह से पीड़ित हो। ऐसी स्थिति में चंद्रमा जातक को शुभ फल नहीं देते और इसका परिणाम ये होता है कि व्यक्ति तनाम में रहने लगता है।

तनाव के सात ही भ्रम भी देते हैं राहु-केतु

चंद्रमा (Moon) के अलावा जन्म कुंडली में राहु (Rahu) और केतु (Ketu) ऐसे ग्रह हैं जो व्यक्ति को तनाव देते हैं। साथ ही भ्रम की हालात भी निर्मित करते हैं। ऐसे में इंसान को जीवन के अहम फैसले लेने में समस्याएं आ सकती है। नतीजतन काम में बाधा उत्पन्न होती है और व्यक्ति धीरे-धीरे तनाव (Mental stress) में घिरने लगता है।

व्यक्ति का काफी परेशान कर सकते हैं शनिदेव

शनि (Saturn) तब इंसान को मुश्किल में डाल देते हैं जब कुंडली में वे वक्री हो फिर किसी को साढ़े साती या अढैया चल रहा हो। इन हालातों में शनि देव किसी व्यक्ति को काफी परेशान कर सकते हैं। काम में बाधा, व्यापार में नुकसान, नौकरी में दिक्कतें आना और धन हानि जैसी परिस्थितियों का सामना इंसान को करना पड़ सकता है। इसके चलते जातक तनाव (Mental stress) में चला जाता है।

इन ग्रहों की अशुभता को दूर किया जा सकता है जानिए उपाय:

चंद्रमा (Moon) के उपाय

चंद्रमा (Moon) के दुष्प्रभाव को दूर करने के लिए सोमवार के दिन भगवान शिव की पूजा-अर्चना करें।

पूर्णिमा के दिन चंद्रमा को जल चढ़ाएं। गाय की सेवा करें व दूध सहित सफेद वस्त्रों का दान करें।

  • चंद्रमा का मंत्र: – ॐ सों सोमाय नमः

राहु- केतु Rahu-Ketu के उपाय

राहु और केतु (Rahu-Ketu) दोनों को छाया ग्रह माना जाता है। हालांकि दोनों काफी प्रभावशाली हैं इनके दुष्प्रभाव को दूर करने के लिए भगवान शिव, गणेश जी और मां दुर्गा सहित भैरव देव की अराधना की जानी चाहिए।

राहु-केतु के मंत्र

  • राहु: ॐ भ्रां भ्रीं भ्रौं सः राहवे नमः
  • केतु: ॐ स्रां स्रीं स्रौं सः केतवे नमः

शनि (Saturn) के उपाय

शनि (Saturn) देव की अशुभता को दूर करने के लिए हनुमान जी की पूजा करें।

दरिद्र नारायण की सेवा करें व सरसों का तेल दान करें।

  • शनि का मंत्र: – ऊँ नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम्‌। छायामार्तण्डसम्भूतं तं नमामि शनैश्चरम्‌।

यह भी पढ़ें: Shani Dev: को शनिवार के दिन ऐसे करें प्रसन्न, दूर होगी जीवन की संपूर्ण बाधाएं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here