Home ज्योतिष Shani Dev: को शनिवार के दिन ऐसे करें प्रसन्न, दूर होगी जीवन...

Shani Dev: को शनिवार के दिन ऐसे करें प्रसन्न, दूर होगी जीवन की संपूर्ण बाधाएं

317
0
The mantra to please Shani Dev

जय जोहार. शनिदेव (Shani Dev) को न्याय का देवता कहा जाता है। शनिदेव इंसान को उनके अच्छे कर्मों का अच्छा फल देते हैं तो बुरे कर्मों के लिए उन्हें क्रूर माना जाता है। आज हम आपको बता रहे हैं शनिदेव को प्रसन्न करने का मंत्र जिसके शनिवार के दिन जाप से शनिदेव व्यक्ति से प्रसन्न रहते हैं।

शनि ग्रह के अशुभ फलों को दूर करने के लिए शनिवार के दिन को बेहद खास माना गया है। यह दिन शनि देव (Shani Dev) को समर्पित है।

इस दिन पूजा के साथ ही दान का विशेष महत्व है और इसे बेहद फलदायी माना गया है।

जिनकी कुंडली में शनि अशुभ नहीं है वे भी इस दिन शनि देव की पूजा कर सकते हैं।

सभी ग्रहों में शनि (Shani Dev) ग्रह को न्याय का देवता कहा जाता है।

मान्यता है कि शनिदेव सूर्य पुत्र हैं लेकिन इनकी अपने पिता से नहीं बनती।

जिन लोगों पर शनि की साढे साती या अढैया चल रही है उन्हें शनिदेव की पूजा अवश्य करनी चाहिए।

आईए हम आपको बताते हैं पूजा की विधि

नहाने के बाद स्वच्छ मन से पूजा-अर्चना शुरू करना चाहिए।

शनि देव को मन में याद करते हुए पहले उन्हें उड़द की दाल से बनी खिचड़ी का भोग लगाएं और सरसों का तेल चढ़ाएं।

इसके बाद शनि (Shani Dev) मंत्र के साथ इनकी पूजा करनी चाहिए।

शनि मंत्र

  • ॐ शं शनैश्चराय नम:, ॐ प्रां प्रीं प्रौं सं: शनिश्चराय नम:
  • ॐ नीलांजनसमाभासं रविपुत्रं यमाग्रजम। छायामार्तण्डसम्भूतं तं नमामि शनैश्चरम्ॐ
  • शां शनैश्चराय नम:
  • ॐ भूर्भुव: स्व: शन्नोदेवीरभि टये विद्महे नीलांजनाय धीमहि तन्नो शनि: प्रचोदयात्

शनि का दान

शनिवार के दिन सरसों का तेल, उड़द और काले वस्त्रों का दान किया जाना चाहिए।

इसे दान के लिए बेहद शुभ माना गया है।

यह कर्म कर आप शनिवदेव (Shani Dev) को प्रसन्न कर सकते हैं और आप पर सदैव शनिदेव की कृपा बनी रहेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here